श्री नारायण सूक्तम

  • Post author:
  • Post category:Stotra

यह पाठ करता है सभी मनोकामनाएं पूर्ण, विष्णुजी को प्रिय है ‘श्री नारायण सूक्तम’ सहस्र शीर्षं देवं विश्वाक्षं विश्वशंभुवम् । विश्वै नारायणं देवं अक्षरं परमं पदम् ॥ 1 || विश्वतः…

Continue Readingश्री नारायण सूक्तम

ऋणमोचक मंगल स्तोत्र

  • Post author:
  • Post category:Stotra

मङ्गलो भूमिपुत्रश्च ऋणहर्ता धनप्रदः। स्थिरासनो महाकयः सर्वकर्मविरोधकः।। लोहितो लोहिताक्षश्च सामगानां कृपाकरः। धरात्मजः कुजो भौमो भूतिदो भूमिनन्दनः।। अङ्गारको यमश्चैव सर्वरोगापहारकः। व्रुष्टेः कर्ताऽपहर्ता च सर्वकामफलप्रदः।। एतानि कुजनामनि नित्यं यः श्रद्धया पठेत्। ऋणं…

Continue Readingऋणमोचक मंगल स्तोत्र

श्री हनुमान चालीसा

  • Post author:
  • Post category:Stotra

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि। बरनऊं रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि। अर्थ- श्री गुरु महाराज के चरण कमलों की धूलि से अपने मन रूपी दर्पण को पवित्र…

Continue Readingश्री हनुमान चालीसा